Home > Uttarakhand- उत्तराखण्ड: एक परिचय

उत्तराखण्ड की प्रसिद् महिलायें

उत्तराखण्ड राज्य में कई विरागनाएं पैदा हुई जिनमें से कुछ प्रमुख हैं, समय-समय पर इन्होंने उत्तराखण्ड के लिए अपना योगदान दिया और दूसरों के लिए मिशाल बन गई

उत्तराखण्ड़ सामान्य ज्ञान

उत्तराखण्ड प्राचीन काल से इस भूमि को केदारखण्ड, मानसखण्ड एंव देवभूमि के नाम से जाना जाता है। इस भूमि को द्रोणनगरी के नाम से जाना जाता है

उत्तराखण्ड की 07 राज्यपाल बनी बेबी रानी मौर्य

बी रानी मौर्य आगरा बालूगज की निवासी हैं वे एम0 ए0, बीएड हैं वे 2007 में एत्मादपुर आगरा यूपी से भाजपा विधायक रह चुकी है, वे आगरा मेयर पद पर भी रही हैं और उत्तर प्रदेश बाल आयोग की सदस्य भी रह चुकी हैं

राष्ट्रीय शोध संस्थान

उत्तराखण्ड राज्य में राष्ट्रीय शोध संस्थान

राज्य के प्रमुख संग्रहालय

देहरादून वन संग्रहालय यह राज्य का सबसे पुराना संग्रहालय है जिसकी स्थापना वन अनुसन्धान केन्द्र देहरादून में सन् 1914 में की गई थी। इसमें वन उत्पादों के साथ लगभग 18000 काष्ठ नमूनों का अदभुत संग्रह है। देश में इस समय संग्रहालयों की संख्या लगभग 900 है।

गढ़वाल के बावन गढ़ो की सूची

गढ़वाल में बावन गढ़ का जिक्र हैं जिनमें छोटे-छोटे ठकुरी राजवंश थे। ये छोटे-छोटे बावन राज्य थे इनके राजा सरदार होते थेे

दैनिक समाचार पत्र

समाचार पत्र के माध्यम से सूचनाओं का आदान प्रदान होता है। समाचार पत्र सूचनाओं का सशक्त माध्यम है।

उत्तराखण्ड राज्य की प्रमुख अनुसूचित जातियाॅं एंव अनुसूचित जनजातियाॅं

उत्तराखण्ड राज्य की प्रमुख अनुसूचित जातियाॅं एंव अनुसूचित जनजातियाॅं